Thursday, January 21, 2021
Home राजनीति लखीमपुर खीरी:- ओवर ब्रिज बनने से फरधान के व्यापारियों में मचा हड़कंप

लखीमपुर खीरी:- ओवर ब्रिज बनने से फरधान के व्यापारियों में मचा हड़कंप

अमन अवस्थी

फरधान। पीलीभीत बस्ती नेशनल हाइवे पर पड़ने वाले कस्बा फरधान में रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज बनेगा। इसकी सूचना से लोगो मे खुशी थी। लेकिन जब पैमाइस करने आये अधिकारियों ने एक एक तरफ ही ओवरब्रिज बनने को बताकर लोगो के घरों में निशान लगाकर तोड़ने को बताया तो लोगो मे हड़कम्प मच गया। मकान मालिकों और दुकानदारों का कहना है कि इससे 65 से ज्यादा मकान और सौ से ज्यादा दुकाने टूट जाएगी। लोगों के आशियाने छिनने के साथ साथ रोजगार के लिए बनी दुकाने जाने से रोजीरोटी का संकट भी सताने लगा है।
फरधान कस्बे में रोड़ चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है। रेलवे ने बड़ी लाइन का कार्य भी पूरा कर दिया है। भले ही इस समय कोरोना काल के कारण ट्रेनें नही चल रही हैं लेकिन ट्रेन चलने का उद्घाटन 14 फरवरी 2020 को ही हो गया था। इन सब सुविधाओं के साथ क्रासिंग पर ओवरब्रिज बनने की सूचना से लोगो खुशी की लहर सी दौड़ गयी थी। लगभग छह माह पहले ओवरब्रिज बनाने के लिए रोड के दोनों तरफ 17 मीटर चौड़ाई में पैमाइस की गई थी। लेकिन कार्य शुरू होने के समय ओवरब्रिज बनवाने आये जेई और अधिकारियों ने ओवरब्रिज रोड के एक तरफ ही बनने को बताकर रोड़ के उत्तर साइड में बने मकानों और दुकानों में निशान लगाकर 21 दिसंबर तक तोड़ने को बता दिया। यहां तक पूरे कस्बे एलाउंस कराकर नियत समय पर तोड़ने को कहा वरना कार्यवाही करने के की भी धमकी दे डाली। सड़क किनारे निवास करने वाले मकान मालिकों और दुकानदारों में हड़कम्प मच गया। व्यापारी पुनीत तिवारी, राकेश कुमार गुप्ता, राम प्रवेश, विजय वर्मा का का कहना है कि सभी जगह ओवरब्रिज रोड के बीचों बीच मे बनता हैं और दोनों तरफ फुटपाथ बनता हैं। लेकिन यहां रोड के एक तरफ बनने से लगभग 100 से ज्यादा दुकानें टूट जाएगी। मकान मालिक अनुपम मिश्र, शिवपूजन गुप्ता, सचिन तिवारी का कहना है रोड के दक्षिण की तरफ रेलवे होने की वजह से पूरा कस्बा रोड के उत्तर बसा है। लेकिन रोड की जगह रेलवे की तरफ भी 17 मिटेर पड़ी हैं। लेकिन अधिकारी वह जगह छोड़कर एक तरफ ही ओवरब्रिज बनाने की बात कर रहे हैं। सभी घरों के अंदर पर 5 से 8 मीटर तक तोड़ने की नोटिश चस्पा कर दी हैं। जबकि मकान रोड़ से पहले ही 18 से बीस मीटर दूरी पर मकान बने हैं। अनिल श्रीवास्तव का कहना है इस मानक से कस्बे में बनी सीएचसी की बाउंड्रीवाल तोड़कर उसके अंदर भी दो तीन मीटर जगह ओवरब्रिज की जद में आ रही हैं। वही कस्बे में बनी दो बैंके भी किराये के भवन में है वो भी टूट जाएगी। कस्बावासियों में इस तरह की सूचना से खासा परेशानी बनी हुई हैं। इससे लोगों ने अधिकारियों के संपर्क के साथ साथ क्षेत्रीय विधायक और सांसद से संपर्क इस समस्या के निराकरण की बात करने लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments