Sunday, January 17, 2021
Home राजनीति मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की धज्जियां उड़ाता जिला...

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की धज्जियां उड़ाता जिला अंबेडकर नगर प्रशासन

दबंग प्रधान पती तथा लेखपाल की मिलीभगत से वास्तविक चकमार्ग को छोड़ किसान के खेत से नया चकमार्ग निकालने की साज़िश
अनेकों जगहां शिकायत, जांच के आदेश के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं ।

ए, एस, ख़ान/ स्टेट हेड जानकारी जंक्शन उ-प्र-लखनऊ

लखनऊ- अंबेडकर नगर जिले की जलालपुर तहसील (थाना जलालपुर) में एक दबंग प्रधान पती तथा भ्रष्ट लेखपाल ने षणयंत्र रचकर वास्तविक चकमार्ग को दरकिनार कर एक किसान के खेत से चकमार्ग निकलवाने के प्रयास के तहत खेत को पटवा दिया ।
गरीब किसान अपनी फरियाद लिए एस,डी,एम, से लेकर लखनऊ तक चक्कर लगाता रहा, अनेकों जगहों से जांच के नाम पर रिपोर्ट मंगाई जाती रही और लेखपाल हेर-फेर कर भ्रमित रिपोर्ट भेजता रहा, तथा दबंग प्रधान पती से मिलकर पीड़ित को ही प्रताणित करता रहा ।
मामला जिला अंबेडकर नगर की तहसील जलालपुर का है ।
गरीब किसान बजरंगी पुत्र रामजस निवासी ग्राम जीवत खुर्रमअली परगना सुरहुरपूर थाना एवं तहसील जलालपूर जिला अंबेडकर नगर की गांव में पुश्तैनी जमीन है, जो कि उनके पिता रामजस पुत्र स्वर्गीय बरसाती के नाम पर खतौनी एवं गाटा संख्या 1051- पर दर्ज है जिसपर बजरंगी और उसका परिवार खेती करता है ।
बजरंगी के खेत से ही ग्राम प्रधान पती महेंद्र तिवारी और लेखपाल ने हेर-फेर करके दिनांक 30/6/2016- को अवैध चकमार्ग निकलवाने हेतु पटान करा दिया ।
बजरंगी ने इसके विरुद्ध एस डी एम सहित अनेकों जगहों पर शिकायत की, किंतु न्याय नहीं मिला, हार कर बजरंग ने एस,सी,एस,टी, आयोग में शिकायत दर्ज कराई ।
आयोग ने जब आख्या मांगी तो लेखपाल ने रिपोर्ट में लिखा कि 2014- की पैमाईश में जो चकमार्ग संख्या 1047- दर्शाया गया है उसपर मकान बनें हैं जिनमें बजरंगी का भी मकान शामिल है ।
आख्या आने पर बजरंगी कि ओर से लिखित में कहा गया कि प्रशासन नोटिस दे तो वो अपना मकान हटा लेंगे, तथा प्रशासन द्वारा नोटिस भेजे जाने से बहुत पहले ही बजरंगी ने अपना मकान गिराकर तहसील और एस डी एम को लिखित में सुचित भी कर दिया, इसके करीब एक माह बाद प्रशासन ने नोटिस भेजा ।
सन 2014- की पैमाईश में छोड़े गए चक मार्ग संख्या 1047- पर बजरंगी के अतिरिक्त प्रधान के परिजनों के भी मकान बने हैं, अतः प्रधान और लेखपाल जबरदस्ती बजरंगी के खेत से चकमार्ग निकलवाने हेतु प्रशासन को भ्रमित कर रहे हैं, तथा बजरंगी द्वारा पैरवी करने पर उसको तथा उसके परिवार को प्रताणित कर रहे हैं ।
यही नहीं सूचना के अधिकार के माध्यम से मांगी गई चकमार्ग संख्या 1047- तथा खतौनी एवं गाटा संख्या 1051-के संबंध में सूचना देने में आनाकानी कर रहे हैं ।
क्यो कि वाद न्यायालय सहित कई जगह विचाराधीन है अतः मौके पर यथास्थिति बनाए रखने के निर्देश हैं ।
कुछ पैदल लोग बजरंगी के खेत के बीच से चकमार्ग हेतु की गई पटान से गुजरते भी है जिनको बजरंगी और उसका परिवार नहीं रोकता किन्तु बजरंगी एवं उसके परिवार को उकसाने हेतु प्रधान और उसके परिजन अक्सर बजरंगी के खेत से ट्रैक्टर लेकर निकलने की कोशिश करते हैं जिससे कि विवाद हो ।
रविवार को भी प्रधान के परिजनों ने बजरंगी के खेत से ट्रैक्टर निकालने का प्रयास किया, जिसपर विवाद हो गया, बजरंगी के परिजनों ने पी,आर,वीं, को फोन किया, पुलिस आई किंतु प्रधान के दबाव में दोनों पक्षों पर 151- के तहत कार्रवाई करके लाक अप में डाल दिया ।
पूरे मामले में प्रथ्म दृष्टिया प्रशासन की घोर लापरवाही उजागर होती है, एस,डी,एम, को स्वंय मौके पर जाकर पड़ताल करनी चाहिए थी, वहीं वास्तविक चकमार्ग छोड़कर दूसरे के खसरे से चकमार्ग हेतु अवैध पटान कराने वाले भ्रष्ट लेखपाल से ही आख़्या मंगाता है, जिसे भ्रष्ट लेखपाल प्रधान के पक्ष में भ्रमित जानकारी उपलब्ध करा रहा है ।
यही नहीं स्थानीय पुलिस भी दबंग प्रधान के दबाव में बजरंगी एवं उसके परिजनों को ही उल्टा प्रताणित कर रही है ।
योगी आदित्यनाथ के भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की जिला अंबेडकर नगर प्रशासन कुछ इस प्रकार उड़ा रहा है धज्जियां, जहां एक गरीब किसान की जमीन पर जबरन पटान कराई जा रही है, जबकी वास्तविक चकमार्ग नक्शे में दूसरे स्थान पर है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments