Wednesday, September 22, 2021
Homeबिहारमुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा का इस्तीफा, बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी पर फिर लगी मुहर

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा का इस्तीफा, बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी पर फिर लगी मुहर

भागलपुर, बिहार। तमाम सियासी अटकलों के बीच बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई 2021 (सोमवार) को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। बंगलुरु में राजभवन में राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने इस्तीफा मंजूर कर लिया और उनसे अगले मुख्यमंत्री के शपथ लेने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहने को कहा।


आखिरकार बाबा-भागलपुर द्वारा की गई भविष्यवाणी सही साबित हुई। आईए जानते हैं: बाबा-भागलपुर द्वारा की गई भविष्यवाणी को।
सर्वविदित हो कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ज्योतिष योग शोध केन्द्र, बिहार के संस्थापक दैवज्ञ पं. आर. के. चौधरी उर्फ बाबा-भागलपुर, भविष्यवेत्ता एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ द्वारा की गई भविष्यवाणी कई हिन्दी दैनिक समाचार पत्रों में 20 अप्रैल 2020 (सोमवार) को प्रकाशित हुई थी। जिसका शीर्षक:- कर्नाटक में फिर हो सकती है सियासी नाटक!
डॉ. बूकानाकेरे सिद्धलिंगप्पा येदियुरप्पा का जन्‍म 27 फरवरी 1943  (शनिवार) को बूकानाकेरे, कर्नाटक में हुआ था। विवेचनोपरान्त ज्ञात हो रहा है कि:- धनु लगन, वृश्चिक के चन्द्रमा व वृश्चिक नवांश। विंशोतरी दशा के क्रम में चन्द्रमा की महादशा में केतु की अन्तर्दशा मई 2020 तक तत्पश्चात शुक्र की अन्तर्दशा चलेगी। दैनिक ग्रहों की स्थिति, गोचर व अन्तर्दशा के फलस्वरूप आनेवाला समय अत्यन्त ही खराब, परेशानीदायक व दुखद है। इसलिए येदियुरप्पा को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और बढ़ सकती है भाजपा की मुश्किलें। यानी कर्नाटक में फिर नाटक होने के आसार हैं तथा सत्ता परिवर्तन या मुख्यमंत्री परिवर्तन हो सकते हैं।  ज्योतिष विद्या के आलोक में ऐसा परिलक्षित हो रहा है। ग्रहों के खेल में येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद छोड़ने पर विवश होना पड़े तो ज्योतिर्विद्या के आलोक में आश्चर्यजनक नहीं होगा।
यहाँ यह बतलाना उचित प्रतीत हो रहा है कि:- बाबा-भागलपुर विश्व मानव समुदाय के मंगलकामना के उद्देश्य से विगत 18 वर्षों से तपस्या कर रहे हैं और समय-समय पर अनवरत मौनव्रत साधना में रहते हैं। बाबा-भागलपुर की एक के बाद एक यानी अनेकानेक भविष्यवाणी शत-प्रतिशत सही हुई और इतिहास के पन्ने में स्वर्णाक्षरों में तो अंकित हो गई लेकिन आज तक बिहार सरकार और केन्द्र सरकार का ध्यान इस ओर नहीं गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments