Wednesday, January 20, 2021
Home बिहार बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी ने डोनाल्ड ट्रम्प को दिन में ही दिखलाए तारे,...

बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी ने डोनाल्ड ट्रम्प को दिन में ही दिखलाए तारे, इसे इतिहास कभी भूला नहीं सकेगा

भागलपुर, बिहार। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए 3 नवंबर 2020 (मंगलवार) को चुनाव हुए थे, जिसमें डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन को 306 इलेक्टोरल कॉलेज वोट और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को 232 वोट मिले थे. इसके बावजूद ट्रंप ने हार स्वीकार नहीं की और लगातार आरोप लगाते रहे कि चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है। इसको लेकर कई राज्यों में ट्रंप समर्थकों द्वारा केस भी दर्ज कराए गए, लेकिन ज्यादातर मामले कोर्ट ने खारिज कर दिया, इसके बाद ट्रंप समर्थक हिंसा पर उतारू हो गए।
अमेरिकी कांग्रेस ने 07 जनवरी 2021 (गुरुवार) को जो बाइडेन की जीत पर मुहर लगा दी और 20 जनवरी 2021 (बुधवार) को शपथ लेने का रास्ता साफ हो गया। कांग्रेस ने इलेक्टोरल कॉलेज की काउंटिंग में जो बाइडन को राष्ट्रपति पद के लिए और कमला हैरिस को उपराष्ट्रपति पद के लिए विजेता घोषित किया।
डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने 07 जनवरी 2021(गुरुवार) को कैपिटल बिल्डिंग में जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ की। हिंसा के बाद डोनाल्ड ट्रंप मुश्किल में फंस गए हैं और उन पर जेल जाने का खतरा मंडराने लगा है। जिससे स्पष्ट प्रतीत हो रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप पर की गई बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी शत-प्रतिशत सही साबित हो रही है। ट्रम्प को दिन में ही दिखने लगे हैं तारे। आईये जानते हैं:- बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी जो 09 मार्च 2019 (शनिवार) को कई समाचार पत्रों में प्रकाशित हुई थी। जिसका शीर्षक- ग्रहों के खेल में ट्रंप को दिख सकते हैं दिन में ही तारे! डोनाल्ड ट्रंप का जन्म 14 जून 1946 को दिन में 10:54 बजे जमैका, न्यूयॉर्क, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में हुआ है। उपलब्ध जन्म विवरणी के अनुसार अवलोकनोपरांत ज्ञात हो रहा है कि सिंह लग्न, वृश्चिक राशि व शुक्र के नवांश तुला तथा ज्येष्ठा नक्षत्र के चतुर्थ चरण। इनका लग्न और नवांश काफी मजबूत है तथा प्रबल राजयोगों से लबालब है लेकिन जन्मकुंडली में ग्रहों की स्थिति विषानुसार ग्रहण योग तथा अन्य कुछेक दोष भी है। जो इस ओर संकेत कर रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप का अचानक सब कुछ समाप्त भी हो सकता है। सुखेश-भाग्येश मंगल की लग्न में उपस्थिति संघर्ष का सुखद परिणाम को दर्शाता है तथा लग्नस्थ मंगल व ज्येष्ठा नक्षत्र के फलस्वरुप दांपत्य जीवन में न्यूता व कष्टप्रद स्थिति को दर्शाता है। परिणाम भी सामने है अब तक के जीवन काल में तीन शादियाँ। द्वितीयेश-लाभेश बुध की पंचम भाव पर पूर्ण दृष्टि व तुला नवांश के अनुसार एक अच्छा कलाकार, लेखक व सफल उधमी को भी दर्शाता है। द्वितीय भाव में देव गुरु बृहस्पति पर राहु-शनि की दृष्टि के फलस्वरुप कटु वाणी व सगे-संबंधी तथा पड़ोसियों से क्लेश कारक स्थिति द्योतक है। विशोंतरी दशा के क्रम में राहु की महादशा में राहु की अंतर्दशा में सन 1999 ई में राजनीति में आए, चूँकि दशमस्थ राहु राजनीति से जोड़ता है और सफलतादायक भी है। लेकिन सफलता नहीं मिली क्योंकि यहाँ पर सूर्य कन्नी काट गये। बृहस्पति की महादशा व अंतर्दशा में 20 जनवरी 2017 को 45 वें अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण कर विश्व के इतिहास में अपना नाम दर्ज किया। मई 2018 से नवंबर 2020 तक बृहस्पति में शनि की अंतर्दशा व दैनिक गोचर में मार्च 2019 से जनवरी 2020 तक धनु राशि में शनि केतु की युति संबंध तथा 7 मई से 22 जून 2019 तक मिथुन राशि में राहु मंगल की युति संबंध के फलस्वरूप डोनाल्ड ट्रंप के सितारे को धूमिल करते हुए उन्हें दिन में ही तारे भी दिखला सकता है। अतः वर्णित तथ्यों के आधार पर स्पष्ट है कि बाबा-भागलपुर की भविष्यवाणी शत-प्रतिशत सही है। यहाँ यह बतलाना उचित प्रतीत हो रहा है कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ज्योतिष योग शोध केन्द्र, बिहार के संस्थापक दैवज्ञ पंo आरo केo चौधरी उर्फ बाबा-भागलपुर, भविष्यवेता एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ की 2003 ईo से अब तक अनेकानेक (एक-दो को छोड़कर) भविष्यवाणी सही साबित हुई है। शनि-केतु ग्रह कर सकता है कोलाहल व क्रन्दन सजग रहे संसारवासी विशेषकर भारत नन्दन। इस भविष्यवाणी के तहत विश्व के 88 से अधिक देशों और भारत के 28 प्रदेशों में चाइनीज रोग कोराना के कहर से मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। इसी क्रम में इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि बाबा-भागलपुर की यह भी भविष्यवाणी इतिहास के पन्ने में स्वर्णाक्षरों में अंकित होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments