Wednesday, January 20, 2021
Home राजनीति पुलिस विभाग में 41/- निरीक्षक, उप निरीक्षकों के ज़ोन इधर से उधरसाफ़...

पुलिस विभाग में 41/- निरीक्षक, उप निरीक्षकों के ज़ोन इधर से उधरसाफ़ सुथरी छवि के सआदतगंज थाना प्रभारी महेश पाल सिंह वाराणसी ज़ोन भेजे गए


ए, एस, ख़ान

लखनऊ अपर पुलिस महानिदेशक स्थापना कार्यालय से जारी आदेश से लखनऊ में वर्षों से जमे 41- प्रभारी निरीक्षकों, निरीक्षकों, एवं उप निरीक्षकों, को विभिन्न मंडलों में स्थानांतरित कर दिया गया है, जिसकी ज़द में अंजनी कुमार पाण्डेय, तथा आनन्द कुमार शाही जैसे मठाधीश, तो आए ही, साथ ही साफ़ सुथरी छवि के सआदतगंज थाना प्रभारी महेश पाल सिंह जैसे भी नप गए ।
राजधानी लखनऊ में वर्षों से जमे राजनीति वरदहस्त प्राप्त कुछ गुडवर्क स्पेशलिस्ट इंस्पेक्टरों पर गिरी गाज ने कलमकारों को भी हतप्रभ कर दिया ।
यदि राजधानी के कानून व्यवस्था की बात की जाए तो अखिलेश यादव सरकार के समय की बिगड़ी कानून व्यवस्था, योगी आदित्यनाथ जी की सरकार में बिगड़ी ही दिखी है, और उसके लिए पूरी तरीके से जिम्मेदार रहा है राजधानी का पुलिस प्रबंधन ।
एक ओर राजधानी में एक के बाद एक दुस्साहसिक घटनाएं घटती रहीं, अपराधी सेटिंग पालिसी, एवं राजनीतिक पहुंच के दम पर बचते रहे, तो दूसरी ओर पुलिस फ़र्जी गुडवर्क बना कर अपनी पीठ थपथपाती रही, तथा थाना चौकियों की परिक्रमा करने वाले पत्रकारों द्वारा अपना गुडगान कराती रही ।
नतीजा जहां एक ओर अपराधियों में कानून का कोई खौफ नहीं रहा, तो दूसरी ओर आम गरीब आदमी अपराधी और पुलिस दोनों द्वारा प्रताणित होता रहा ।
थाना चौकियों पर दलालों के जमवाडे लगने लगे, सिफारिशों के दम पर अनेक अपराधी एस,पी,ओ, बन गए ।
सूचना तंत्र के नाम पर मुखबिरी तंत्र, एवं अन्य स्रोत, अपराधियों को सरंक्षक बन गए, गरीबों के मकानों पर बिल्डर पुलिस सेटिंग से बिल्डिंग खड़ी करते रहे, और पुलिस जेंब भर्ती रही ।
यदा कदा कुछ अच्छे अधिकारियों ने कुछ सार्थक करने का प्रयास भी किया, किंतु खोखले सिस्टम में उनकी एक न चली, बल्की उल्टा चाबुक ही चला उनपर, जबकी सेटिंग के दम पर अनेक वर्षों तक कुर्सी बचाने में सफल रहे थे ।
प्रदेश एवं राजधानी में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर स्वयं मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी स्वयं कई बार सख़्त नाराजगी जता चुके हैं, और अब लगता है मुख्यमंत्री जी के कड़े निर्देशों का ही अनुपालन हो रहा है, जिसमें बड़े बड़े मठाधीश भी धराशाई हो गए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments