Wednesday, January 27, 2021
Home बिहार नीतीश सरकार में चोरी और सीना जोरी का खेल,अफसरों की मिलीभगत से...

नीतीश सरकार में चोरी और सीना जोरी का खेल,अफसरों की मिलीभगत से सरकारी भवन पर हो रहा कब्जा :राजद

सरकारी भवन को तोड़कर निजी मकान बनाने वाले दबंग अतिक्रमणकारियों पर नहीं हुआ प्राथमिकी दर्ज तो सड़क पर उतरेगी राजद

डॉ शशि कांत सुमन
मुंगेर : जीरो टालरेन्स की नीतीश सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार और अफसरशाही चरम पर है। ऐसा ही एक मामला मुंगेर के सदर प्रखंड अन्तर्गत नौवागढी ग्राम पंचायत में एक सामुदायिक भवन पर स्थानीय दबंगो द्वारा जबरन कब्जा करने की नीयत से निजी उपयोग के लिए स्धानीय पदाधिकारियों की मिलीभगत से अवैध कब्जाधारियों सरकारी भवन पर निजी भवन का निर्माण किये जाने का मामला उजागर होने के बाद जिले के संबंधित पदाधिकारियों द्वारा कार्रवाई नहीं किया जाना से नीतीश सरकार के चाल,चरित्र और चेहरा सामने आया है।
जिसे जिला राजद ने गंभीरता से लेते हुए जिला राजद कार्यालय में जिलाध्यक्ष डॉ देवकीनन्दन सिंह की अध्यक्षता में बैठक आयोजित कर शासन और प्रशासन के कार्य शैली की घोर निंदा की। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष डॉ देवकीनन्दन सिंह ने कहाकि यह कैसी व्यवस्था है ‘चोरी भी और सीना जोड़ी भी” सरकारी सामुदायिक भवन पर अवैध कब्जा धारियों से संबंधित खबरें प्रकाशित करने वाले पत्रकार रंजीत कुमार विधार्थी को कब्जाधारी दंबंगो ने पत्रकार एवं उनके परिवार पर घर पर जानलेवा हमला कर बेरहमी के साथ पीट पीट कर जख्मी कर दिया ।
यह घटना सुशासन सरकार के लिए कलंक का टीका है। घटना के बाद बीडीओ, पंचायत सचिव कथा सदर अंचलाधिकारी के काले कारनामा भी समाने आया है। जब आरटीई से मांगी गई सूचना के जबाव में गुमराह करने वाली गलत सूचना दी गई है।
जिला राजद कमिटी की बैठक में जिला पदाधिकारी रचना पाटिल से पूरे प्रकरण को जाँच की माँग करते हुए दोषियों के विरुद्ध शीध्र कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांच कर शीध्र कार्रवाई नहीं किया जाता है तो बाध्य होकर राजद सड़कों पर आन्दोलन करने को मजबूर होगा। बैठक में जिला राजद प्रवक्ता मंटू शर्मा, मिडिया प्रभारी गजेन्द्र कुमार हिमांशु,महासचिव सुरेन्द्र यादव, सीपीआई नेता विन्देश्वरी प्रसाद दीन सहित दर्ज़नों नेता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments