Wednesday, January 20, 2021
Home बिहार दिनांक 29.12.2020 दिन मंगलवार को पूरमल सावित्री देवी बाजोरिया सरस्वती शिशु मंदिर...

दिनांक 29.12.2020 दिन मंगलवार को पूरमल सावित्री देवी बाजोरिया सरस्वती शिशु मंदिर नरगाकोठी के प्रांगण में पूरनमल बाजोरिया स्मृति मंच के तत्वावधान में पूरनमल बाजोरिया जी की पुण्यतिथि


दिनांक 29.12.2020 दिन मंगलवार को पूरमल सावित्री देवी बाजोरिया सरस्वती शिशु मंदिर नरगाकोठी के प्रांगण में पूरनमल बाजोरिया स्मृति मंच के तत्वावधान में पूरनमल बाजोरिया जी की पुण्यतिथि विद्यालय के अध्यक्ष डॉक्टर सी बी सिंह की अध्यक्षता में मनाई गई। कार्यक्रम का प्रारंभ विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद, विद्यालय के अध्यक्ष डॉ सी बी सिंह, विद्यालय के सह सचिव तिलक राज वर्मा, विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य रामजी प्रसाद सिन्हा, विद्यालय के सदस्य प्रभाष मिश्र एवं शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य रंजीत कुमार आचार्य ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर एवं उनके चित्र पर पुष्पार्चण कर किया।
डाॅ.सी बी सिंह ने कहा कि पूरनमल बाजोरिया समाज के लिए अमूल्य धरोहर थे। स्पष्टवादी एवं खुले विचार के थे। उनके भावना और सोच को बढ़ावा देकर इस विद्यालय को और फलीभूत करें।
विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य रामजी प्रसाद सिन्हा ने कहा कि पूरनमल बाजोरिया इस विद्यालय के संस्थापक थे। इनका एक कोठी 45 बीघा का था जिसमें सर्वप्रथम शिशु मंदिर प्रारंभ हुआ बाद में सालारपुरिया ट्रस्ट द्वारा इनके परिश्रम से विद्या मंदिर की स्थापना हुई। आनंद राम ढाँढनियाँ विद्या मंदिर का निर्माण भी इन्हीं के परिश्रम से हुआ था। नाथनगर शिशु वाटिका इन्हीं के परिश्रम से विद्या भारती को प्राप्त हुआ है। विद्यालय के सूक्ष्म से सूक्ष्म बातों की जानकारी भी वह रखते थे उनके लिए कोई कार्य असंभव नहीं था। उनका कहना था अच्छे लोगों को फैलना चाहिए।
विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद ने कहा की अच्छी बातों को सुनना चाहिए। आज इन्होंने जो बाग लगाया था उसी का फल आज इस समाज को उनके द्वारा किए गए कार्यों से प्राप्त हो रहा है।
प्रभाष मिश्र ने कहा आज नरगाकोठी का दीप प्रज्वलित करने वाले पूरनमल बाजोरिया जी को नमन है। उनके नाम पर शिशु मंदिर एवं B.Ed कॉलेज नरगाकोठी में चल रहा है।उनका नाम आज भी समाज में लिया जाता है।वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। समाज में पिछडे व्यक्ति का सहयोग किया।
शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य रंजीत कुमार आचार्य ने अधिकारी परिचय कराते हुए कहा कि पूरनमल बाजोरिया समाज के हर तबके के लिए कार्य करते थे। अभिभावक के रूप में सलाह देते थे।
विद्यालय के उपाध्यक्ष डॉ मधुसूदन झा द्वारा बेंगलोर से ही पूरनमल जी को दूरभाष द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
इस अवसर पर तिलक राज वर्मा, शशि भूषण मिश्र, मनोज तिवारी, महेश कुमर,उपेन्द्र प्रसाद साह, अभिजीत आचार्य, शशि कांत गुप्ता, नरेन्द्र कुमार,ललिता झा द्वारा उनके व्यक्तित्व पर विचार प्रस्तुत किया गया एवं सुबोध झा, सुबोध ठाकुर, संजीव ठाकुर, अमर ज्योति, लव त्रिपाठी, राजीव लोचन झ एवं समस्त शिशु मंदिर और विद्या मंदिर के आचार्य उपस्थित थे।
मीडिया प्रभारी
शशि भूषण मिश्र
9934045325

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments