Tuesday, January 26, 2021
Home राजनीति एलडीए का भूमाफियाओं के खिलाफ अभियान केवल दिखावानिशातगंज में भूमाफिया के अवैध...

एलडीए का भूमाफियाओं के खिलाफ अभियान केवल दिखावानिशातगंज में भूमाफिया के अवैध निर्माण को सरंक्षण, शिकायतकर्ता पर समझौते का दबाव ।


ख़बरी अंकल/ ए, एस, ख़ान

लखनऊ मुख्तार अंसारी और उसके गुर्गों के अवैध निर्माण पर हथौड़ा, अतीक अहमद और उसके निर्माण पर हथौड़ा, भूमाफियाओं के खिलाफ एलडीए का अभियान, आदी शीर्षक की ख़बरें लगातार समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रही है, और सरकार अपनी पीठ ठोक रही है ।
किंतु वहीं दूसरी ओर शासन और प्रशासन की नाक के नीचे एलडीए के अधिकारियों की मिलीभगत से भू-माफिया लगातार करोड़ों की सरकारी भूमी पर खुलेआम अवैध निर्माण करा रहा है, तथा अनेक शिकायतों के बाद भी एलडीए के अधिकारी कार्यवाही करना तो दूर उल्टा शिकायत कर्ता को ही धमका रहे हैं ।
ये है योगीराज के उत्तम प्रदेश का सर्वोत्तम प्रशासन ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार B-3/1- बालदारोड कालोनी पहली गली निशातगंज निवासी नरेंद्र सिंह ने लगभग 4000 वर्ग फुट सरकारी जमीन पर बिना जमीन का दाम चुकाए और बिना कोई नक्शा पास करवाये, केवल सभासद और 10-20 गुंडों से दोस्ती और पहचान के दम पर, तथा अपने मृतक पिता, जो LDA के मुलाजिम थे, उनके नाम के दम पर सरकारी भूमि पर अवैध काम्प्लेक्स बनवा लिया ।
जब ऊपर की मंजिल पर B-3/2 में रहने वाले बुजुर्ग दम्पत्ति ने अपने घर की सुरक्षा की वजह से आपत्ति जताई तो उनको गुंडों से धमकियां दिलवाई, बुजुर्ग दम्पत्ति की दर्जनों शिकायतें मुख्यमंत्री पोर्टल पर पड़ी है ।
कोर्ट में केस दायर करने के बाद जब LDA ने मजबूरी में काम्प्लेक्स सील कर दिया तबसे ऊपर रहने वालों को आये दिन धमकियां देता रहता है ।
इतना ही नहीं नरेंद्र सिंह ने रोड पर भी गेट लगाकर उसपर कब्ज़ा किया हुआ है, तथा कालोनी के पार्क के भी सारे रास्ते बंद कर उसका रास्ता कब्जाई गई रोड से ही खोल‌ रखा है ।
कई जगह शिकायत करने के बाद LDA वाले अब अक्सर निरीक्षण के बहाने आते हैं तथा उलटा बुजुर्ग महिला को समझौता करने के लिए दबाव बनाते हैं ।
और उस गुंडे के अवैध निर्माण के बदले बुजुर्ग दम्पत्ति के घर को ही अवैध बता कर तोड़ने की धमकी देते हैं कि समझौता नही किया तथा शिकायत वापस नही ली तो उसका तो टूटेगा साथ मे तुम्हारा भी 30 साल पुराना निर्माण गिराया जाएगा।
भू-माफिया नरेंद्र सिंह अवैध रूप से हास्टल बना रहा है जिसमें वो अराजक तत्वों को रखना चाहता है, जबकि बालदा रोड कालोनी ने सभ्य और वरिष्ठ नागरिक रहते हैं, हास्टल‌ बन जाने से कालोनी का वातावरण खराब होगा, जिसके कारण क्षेत्रीय लोगों में दहशत का माहौल है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments