Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीतिउत्तर प्रदेश वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने डीएम को सौपा ज्ञापन

उत्तर प्रदेश वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने डीएम को सौपा ज्ञापन

डॉ0कल्पराम त्रिपाठी
ब्यूरोचीफ गोण्डा

गोण्डा।
उत्तर प्रदेश वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने सोमवार को जिलाधिकारी डॉ मार्कंडेय शाही को शिक्षकों को बदहाली से उबारने के लिए ज्ञापन सौंपा ।
ज्ञापन में कहा गया है कि वित्तविहीन विद्यालय के शिक्षक/ प्रबंधक संघ करोना कॉल के बाद आर्थिक तंगी व भुखमरी जैसी स्थिति से गुजर रहा है। स्कूल के सभी प्राइवेट शिक्षक प्रबंधक बेरोजगारी का जीवन जी रहे हैं। वित्तविहीन स्कूलों पूरी तरह से ध्वस्त हो ग ए हैं। कुछ पूंजी पतियों के विद्यालय को छोड़कर अन्य विद्यालयों के अध्यापकों को वेतन देना संभव नहीं है। नौकरी देने वाले प्रबंधक आज स्वयं मजदूरी या नौकरी करके जीवन गुजारा करने को विवश हैं। ज्ञापन में
प्राइवेट शिक्षकों को कम से कम 2000 प्रतिमाह गुजारा भत्ता के रूप में भरण पोषण हेतु भत्ता प्रदान करने की सरकार से अनुरोध किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार से मान्यता प्राप्त विद्यालयों के बिजली बिलों में स्थाई अधिभार मुक्त कराकर केवल रीडिंग चार्ज ही लिया जाए। जिसकी वसूली विद्यालय खोलने के 6 माह बाद से शुरू किया जाए। विद्यालय से संबंधित ट्रांसपोर्ट एवं अन्य लोन की पेनाल्टी व फिटनेस को कम से कम बंदी अवधि तक स्थगित किया जाए।
प्रदेश में करोना संक्रमण काफी हद तक नियंत्रित हो चुका है।ऐसे में अन्य गतिविधियों की तरह शैक्षिक गतिविधियों को शुरू करने हेतु विद्यालय खोलने का आदेश निर्गत करें। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष काशी प्रसाद ओझा, जिला महासचिव कृष्ण मोहन मिश्रा, प्रदेश संयोजक सत्य प्रकाश गुप्त, नगर अध्यक्ष अमित वर्मा पंडरी कृपाल अध्यक्ष खेमचंद वर्मा, वजीरगंज अध्यक्ष बाबूराम मौर्य, हरेंद्र जयसवाल, अनुराग अग्निहोत्री, दीपक , महेश कुमार गोस्वामी, व अन्य कई प्रबंधक/ शिक्षक उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments