Wednesday, January 20, 2021
Home राजनीति आर्थिक संसाधनों से जूझते बच्चों को बेहतर ऑनलाइन शिक्षा देने के मकसद...

आर्थिक संसाधनों से जूझते बच्चों को बेहतर ऑनलाइन शिक्षा देने के मकसद से मोबाइल दान करने की अभिनव पहल शुरू:-


:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
सारंगढ:-कोरोना संकट ने बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई का रास्ता जरूर खोल दिया है, लेकिन केवल इससे ही पढ़ने की राह आसान नही हो पाई है।जिले के सरकारी स्कूलों में बड़ी तादात में कमजोर तबके के बच्चे पढ़ रहे हैं और इन बच्चों के परिवार के पास स्मार्टफोन का नही होना ऑनलाइन पढ़ाई में बाधक बन रहा है।ये तकनीकी परेशानियों से शिक्षकों,पालकों के साथ साथ जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग को भी परेशान कर रही है।जिले मे कोरोना काल के बीच बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए जिला कलेक्टर श्री भीम सिंह के विशेष पहल पर”एक मोबाइल दान-शिक्षा के लिए वरदान” कार्यक्रम के माध्यम से एक अनूठी योजना की शुरुआत किया गया है।शिक्षा के प्रति विशेष संवेदनशील और सकारात्मक नजरिये रखने वाले जिला कलेक्टर का स्पष्ट मानना है कि शिक्षा हर घर तक पहुंचे ,,,सब पढ़े और सब बढ़े इसके सभी को समवेत रूप से मिलकर काम करना है। जिला कलेक्टर के मंशानुरूप आज अनुविभाग के युवा और ऊर्जावान अनुविभागीय अधिकारी श्री नंदकुमार चौबे ने सारंगढ विकास के जरूरत मन्द बच्चों को मोबाइल प्रदान किये।
कोविड-19 की वजह से सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं। संकट के इस दौर मे बच्चों को समुचित पढ़ाई करवाना एक चुनौती है। ऐसे मे छत्तीसगढ़ शासन के स्कूली शिक्षा विभाग के नवाचारिक एवम वैकल्पिक शिक्षा मॉडल”पढ़ाई तुंहर दुआर”के माध्यम से घर पर ही बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा देने हरसम्भव प्रयास किया जा रहा है। जिले के सरकारी स्कूलों के बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाने में स्मार्टफोन की अभाव बड़ी बात है। जरूरतमंद और प्रतिभावान बच्चों को मोबाइल उपलब्ध करवाने जिला कलेक्टर ने विशेष संवेदनशीलता का परिचय देते हुए ऑनलाइन शिक्षा से वंचित बच्चों को मोबाईल दान कर बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने प्रयासरत हैं। इसी अनुक्रम में आज दिनांक को सारंगढ विकास खंड के बच्चों जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ से प्राप्त पांच नग मोबाइल को श्री चौबे द्वारा प्रदान किया गया। श्री चौबे ने बच्चों,पालकों, शिक्षकों एवम अधिकारियों से कहा कि कलेक्टर महोदय के मंशानुरूप प्रतिभावान और वास्तविक जरुरतमंद बच्चों को मोबाइल दिया जाकर उन्हें ऑनलाइन शिक्षा से जोड़कर शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ना है।उन्होंने कहा कि कलेक्टर महोदय की यह पहल अनुकरणीय है और विकास खंड को मिले लक्ष्य को मिलकर पूरा करना है। श्री चौबे ने अंचल के तमाम स्वयम सेवी संगठन/जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया है कि वे शिक्षा की इस महादान पर्व में खुलेमन से आर्थिक संसाधनों से जूझते बच्चों को एक मोबाइल दान कर शिक्षा के समग्र विकास में सहभागी बनें। उन्होंने सभी बच्चों को कहा कि वे मोबाइल का सदुपयोग करें और अच्छी शिक्षा ग्रहण अच्छे नागरिक बनकर समाज और राष्ट्र के विकास में अपनी भूमिका सुनिश्चित करे।
इस अवसर पर विकासखंड शिक्षा अधिकारी श्री आर एन सिंह ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त पांच नग मोबाइल का सूची के अनुसार अनुविभागीय अधिकारी महोदय के द्वारा वितरण किया गया। उन्होंने कहा कि हमारे विकास खंड को दो सौ अठहत्तर मोबाईल दान करने का लक्ष्य मिला है। जिसे पूरा करने हरसम्भव प्रयास किया जाएगा। कार्यक्रम मे विकास खंड शिक्षा अधिकारी श्री सिंह के साथ सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वय श्री मुकेश कुर्रे,श्री रवि डोंगरे एवम विकास खंड स्त्रोत समन्वयक श्री शोभाराम पटेल विकास खंड मीडिया प्रभारी ध्रुवकुमार महंत(पढ़ाई तुंहर दुआर) बच्चे,शिक्षक गण उपस्थित रहे। आज जिन बच्चों को मोबाईल दिया गया क्रमशःफूलमणी यादव ,किरण यादव,राजन,सरोज और अरुण को मिला है। इन बच्चों को रायगढ़ सर्राफा बाजार ,sdm रायगढ़,MR लहरे मुख्य प्रबंधक लीड बैंक रायगढ़,सुमित अग्रवाल जिला परिवहन अधिकारी रायगढ़,kl उइयके,महाप्रबंधक जिला व्यापार एवम उद्द्योग केंद्र रायगढ़ के सहयोग से सारंगढ के इन बच्चों को मोबाइल दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments